34.3 C
Dehradun
Tuesday, April 20, 2021
Homeउत्तराखंडपौड़ी के पहाड़ो से उठती कांग्रेस की युवा आवाज : गौरव सागर...

पौड़ी के पहाड़ो से उठती कांग्रेस की युवा आवाज : गौरव सागर एनएसयूआई जिलाध्यक्ष पौड़ी

- Advertisement -
- Advertisement -

यह बात कुछ वर्ष 2014 की होगी एक सांवला व दुबले शरीर वाला NCC का नौजवान अपनी दबंग व बेबाक आवाज़ में कमांड करवाता नजर आया था तब पूछने पर एक ही जवाब जबान पर होता था , सेना में अफ़सर बनना है और अपनी मातृभूमि के प्राण न्योछावर करने के लिये भी पीछे नहीं हटना है ।

भगत सिंह के उसूलों में चलने वाला NCC का सीनियर अंडर अफसर (S.U.O.)
किसने सोचा था छात्रसंघ को अपनी नींव बनाते हुए आगे राजनीति में लोगों को एक नई उम्मीद की तरह दिखेगा ।
बात कर रहे हैं पौड़ी निवासी वर्तमान NSUI जिलाध्यक्ष गौरव सागर की , श्री गुरु राम राय पब्लिक स्कूल पौड़ी से इंटरमीडिएट कर गढ़वाल विश्वविद्यालय (केंद्रीय ) परिसर पौड़ी में वर्ष 2013 में B.Sc. में दाखिला लिया ।
भारतीय सेना में जाने की रुचि के चलते NCC को अपना नेतृत्व का आधार बनाया , 1 साल बाद ईमानदारी से मेहनत कर NCC में सीनियर अंडर अफसर ( S.U.O. ) की रैंक मिली । वर्ष 2014 में नेतृत्व करने की शैली के चलते यह नौजवान NCC एवं NSS में लगातार समाज व छात्रों की हितों की लड़ाई के लिए आगे आता रहा व इंडियन नेशनल कांग्रेस की छात्र इकाई भारतीय राष्ट्रीय छात्र संगठन ( NSUI ) की सदस्यता भी ली । नेक दिल , बेबाकी व साफ छवि का होने के चलते छात्र-छात्राओं का भारी प्रेम व साथ मिलना शुरू हो गया , 2015 में ग्रेजुएशन का आखिरी साल बचा था अब क्या था अब ग्रेजुएशन कर CDS की जम कर तैयारी जो करनी थी । पर उसे कहाँ पता था जीवन में एक बड़ा मोड़ आना बाकी था , भारी संख्या में छात्र-छात्राओं द्वारा आग्रह करने पर वर्ष 2015 में जीवन का पहला चुनाव लड़ाना था , और ग्रेजुएशन के फाइनल ईयर में गढ़वाल विश्वविद्यालय परिसर पौड़ी में NSUI छात्र संगठन से छात्रसंघ अध्यक्ष की दावेदारी प्रस्तुत की । भारी संख्या में छात्र-छात्राओं का प्यार व समर्थन देख जीत लगभग सुनिश्चित थी , परंतु चुनावी षडयंत्रों के चलते चुनाव हाथ से निकल गया व हार का सामना करना पड़ा ।

वो कहते हैं ना हारा वही जो लड़ा नहीं , इस हार से मानों इस नौजवान को कोई बड़ा झटका सा लग गया हो , कहता है ” शरहद पर मेरे बहुत भाई है मेरी भारत माँ की सेवा में लगे , परंतु इस राजनीति में मुझे कोई नजर न आया , कर्ज है मेरे ऊपर भी मेरी माँ का इसलिए मैं यहां चला आया ” । बस फिर क्या था चल पड़ा अपनी राह पर , हार के तुरंत बाद ही गढ़वाल विश्वविद्यालय पौड़ी में ही NSUI पौड़ी नगर अध्यक्ष की कमान संभाली व छात्रहितों की जम कर लड़ाई लड़ी कारणवश वर्ष 2016 के छात्रसंघ चुनाव में NSUI ने छात्रसंघ अध्यक्ष समेत सभी पदों पर रिकॉर्ड जीत दर्ज की , बस यहीं से मील का पत्थर गाढ़ कर इस नौजवान ने छात्र-राजनीति को अपना आधार बना लिया ।

ईमानदारी से लगातार छात्रहितों की लड़ाई लड़ते – लड़ते , जिसमें परिसर का सौन्दर्यकरण , B. COM की कक्षाओं के संचालन , खिलाड़ियों को पर्याप्त सुविधाएं मुहैया करवाना , परिसर में कैंटीन का निर्माण , छात्र-छात्राओं में NCC व NSS के जरिये नेतृत्व करने व सहयोग की भावनाओं को जगाना , जनरेटर एवं फनीचर जैसी जरूरी सामग्री उपलब्ध करवाना ।
इस प्रकार से छात्र-छात्राओं की हर संभव मदद कर गणित से मास्टर्स कर गढ़वाल विश्वविद्यालय परिसर पौड़ी में पढ़ाई जारी रखी व NSUI संगठन में अहम मजबूती प्रदान की  ।

अपनी लगन व निष्ठा से वर्ष 2018 में NSUI संगठनात्मक चुनाव में पौड़ी गढ़वाल जिलाध्यक्ष की दावेदारी प्रस्तुत की , श्रीनगर में सम्पन्न हुए इस चुनाव में युवाओं के भारी सहयोग के चलते पौड़ी कस्बे से NSUI का पहला निर्वाचित जिलाध्यक्ष बन इतिहास रच डाला ।

अब इस नौजवान के सपनों को नई जान मिल चुकी थी व NSUI पौड़ी गढ़वाल को ईमानदार ऊर्जावान जिलाध्यक्ष ।
पौड़ी परिसर के साथ अब गढ़वाल विश्वविद्यालय (केंद्रीय) श्रीनगर परिसर व अन्य जिले में आने वाले महाविद्यालय पर NSUI को मजबूती देने का कार्य शुरू किया गया ।

2018 छात्रसंघ चुनाव परिसर पौड़ी में अरविंद नैथानी को छात्रसंघ अध्यक्ष की दावेदारी करवाई गई संगठन के दूसरे गुट ने विरोध कर निर्दलीय चुनाव लड़ने का फैसला लिया व जिलाध्यक्ष पर तमाम बेबुनियाद आरोप लगा डाले , जिलाध्यक्ष गौरव सागर द्वारा अरविंद नैथानी को प्रत्याशी घोषित किया गया संगठन के दूसरे प्रत्यासी द्वारा निर्दलीय चुनाव लड़ने पर भी NSUI ने 250 से ज्यादा वोटों से रिकॉर्डतोड़ जीत दर्ज की व खुद को साबित किया , साथ ही 8 वर्ष बाद श्रीनगर केंद्रीय विश्वविद्यालय में महासचिव पद पर सत्यम कालरा को चुनाव लड़वाया गया ।

अब तो मानों इन हौसलों को नई जान मिल चुकी थी छात्र-हितों के साथ सामाजिक कार्यों में हिस्सेदारी बढ़ती चली गयी , हर छोटी-बड़ी समस्य का डट कर सामना इस नौजवान द्वारा किया जा रहा था।

वर्ष 2019 में एक बार फिर छात्रसंघ चुनाव गढ़वाल विश्वविद्यालय परिसर पौड़ी में भारी विरोध व तमाम संगठनों के एक होने के बावजूद खुद को साबित किया व आस्कर रावत ( छात्रसंघ अध्यक्ष ) , सचिन रावत ( कोषाध्यक्ष ) , विमल कुमार ( उपाध्यक्ष ) , रजनी बिष्ट ( छात्रा प्रतिनिधि ) , अखिल नेगी ( सह-सचिव ) जैसे महत्त्वपूर्ण पदों पर नौजवान जिलाध्यक्ष के नेतृत्व में एक बार फिर NSUI रिकॉर्ड तोड़ जीत दर्ज करने में कामयाब हुई ।

छात्रहितों के साथ-साथ सामाजिक कार्यों में रुचि व भागेदारी से भारी संख्या से लोगों का प्यार मिलना व NSUI एवं कांग्रेस द्वारा सभी कार्यक्रमों में भागेदारी से युवाओं के साथ-साथ बुजुर्गों के विश्वाश इस नौजवान के प्रति बनता नजर आ रहा है।
देवभूमि पौड़ी को इसी प्रकार के नौजवानों की आवश्यकता है जो निस्वार्थ भाव से पढ़े लिखे होने के साथ पहाड़ की आवाज को बुलंद कर सकें ।

यकीनन गौरव सागर नामक इस युवक में पौड़ी की जनता आने वाले नेता को देख रही है । कोरोना काल हो या कोई अन्य समस्या का समय इस युवा द्वारा लगातार नेतृत्व कर नई रोशनी व उम्मीद की किरण युवाओं व अन्य नागरिकों में जगाई है । इसी के साथ तमाम हार के बाद भी हार न मानने वाले इस नौजवान युवक में छात्र-राजनीति से उठता हुआ नेता पौड़ी को व साथ ही भारतीय राष्ट्रीय कांग्रेस को मिलता नजर आ रहा है।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

- Advertisment -

Most Popular

Recent Comments