34.3 C
Dehradun
Saturday, October 24, 2020
Home हेल्थ & लाइफस्टाइल कोरोना वायरस से बचने के लिए लहसुन का प्रयोग फायदेमंद, सीएसआईआर-आईआईपी के...

कोरोना वायरस से बचने के लिए लहसुन का प्रयोग फायदेमंद, सीएसआईआर-आईआईपी के वैज्ञानिकों ने भी कहा

- Advertisement -
- Advertisement -

सीएसआईआर-भारतीय पेट्रोलियम संस्थान देहरादून के वैज्ञानिकों ने लहसुन के इस्तेमाल से वायरस संक्रमण पर प्रभावी रोकथाम को लेकर पहली बार आणविक स्तर का सबूत जुटाया है। वैज्ञानिकों का निष्कर्ष है कि खाने में लहसुन के प्रयोग से कोविड-19 जैसी वायरस जनित बीमारियों का प्रभावी मुकाबला किया जा सकता है। अभी तक ये माना जाता रहा है कि पारम्परिक रूप से हल्दी, प्याज, तुलसी, अदरक, दालचीनी, लौंग, काली मिर्च जैसे आम रसोई में इस्तेमाल होने वाले खाद्य सामग्री इन्यूनिटी से मुकाबले में मददगार साबित होती है। मगर ये शरीर के भीतर किस तरह कैमीकल रिएक्शन करते हैं इसके बारे में जानकारी नहीं थी।

आईआईपी के वैज्ञानिक डा.अनिल सिन्हा ने अपने शोध में पता लगाया है कि, लहसुन की एक फांक खाने पर बायोमॉलीक्यूल एलाइल मिथाइल सल्फाइड शरीर के हरेक महत्वपूर्ण हिस्से में कुछ देर में पहुंच जाता है और पूरा दिन वायरस से लड़ता रहता है।

लहसुन की एक फांक में पांच से 10 मिलीग्राम तक एक्टिव कम्पाउंड एलिसिन पाया जाता है। जो शरीर में वायरस के खिलाफ अनूठी प्रतिरोधक क्षमता विकसित कर देता है।

अंर्तराष्ट्रीय जर्नल बायोमॉलीक्यूलर स्ट्रक्चर एंड डाइनामिक्स में डा.अनिल सिन्हा, सलीम ए फारुकी, अंकिता शर्मा, अंकित मिश्रा, विकास वर्मा का ये शोध पत्र ‘रिएक्टिविटी ऑफ एलाइल मिथाइल सल्फाइड, द इन-विट्रो मेटाबॉलिक ऑफ गार्लिक, विद सम अमीनो एसिड्स एंड विद फोस्फोलिपिड इन्वोल्वड इन वाइरल इन्फेक्शन्स’ प्रकाशित हुआ है।

कैसे करता है यह काम
एलाइल मिथाइल सल्फाइड, एलिसिन का प्रमुख मेटाबोलाइट घटक है। लहसुन खाने के बाद एलाइल मिथाइल सल्फाइड, लार, स्लाइवा, श्लेष्म, रक्त प्लाज्मा के जरिए फेफड़े, गुर्दे आदि शरीर के अंगों में पहुंच जाता है। जहां यह वायरस के कम्पोनेंट फास्पोलिपिड, ग्लाइकोप्रोटीन से लड़ना शुरू कर देता है। हमारे शरीर में सिलिक एसिड और कुछ अमीनो एसिड इम्यूनिटी कमजोर करते हैं, जिससे शरीर में वायरस संक्रमण का खतरा बढ़ता है। वैज्ञानिकों ने लैब में कई जांचों के बाद पाया कि वायरस के कम्पोनेंट व लहसुन के कम्पोनेंट (एलाइल मिथाइल सल्फाइड)के रिएक्शन से वायरस पूरी तरह निष्प्रभावी हो गया।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

- Advertisment -

Most Popular

दशहरा 2020 : इस बार देहरादून में सादगी से मनाया जाएगा दशहरा 10 फीट के रावण होगा दहन

देहरादून के परेड ग्राउंड में होने वाले ऐतिहासिक रावण दहन कार्यक्रम इस बार रेसकोर्स स्थित बन्नू स्कूल में होगा। इस बार बीच रावण की...

सतभयकोट-खुलाई के ग्रामीणों ने सिस्टम को दिखाया आइना, श्रमदान कर खुद बना डाली दो किमी सड़क, पढ़िए

सतभयकोट-खुलाई के ग्रामीणों ने बिना सरकारी मदद के अपने गांव को सड़क मार्ग से जोड़ने के लिए दो किलोमीटर सड़क खोद डाली। चमोली जिले...

दुखद खबर: ड्यूटी के दौरान हुई टिहरी गढ़वाल के ITBP जवान की मौत, घर वालो का रो-रोकर बुरा हाल

टिहरी गढ़वाल के चंबा के स्यूंटा गांव निवासी आइटीबीपी के जवान विजय सिंह पुंडीर की ड्यूटी के दौरान मौत हो गई। बताया जा रहा...

चारधाम रेल परियोजना: अधूरे रास्ते में ना छोड़कर अब श्रद्धालुओं को सीधे धामों तक पहुंचाएगी रेल, चारधाम यात्रा होगी और अधिक सुगम ! जानिए

उत्तराखंड में सबसे महत्वकांक्षी रेल परियोजना है चारधाम रेल परियोजना। चारधाम रेल परियोजना का काम जोरों-शोरों से चल रहा है। ऋषिकेश- कर्णप्रयाग रेल परियोजना...

Recent Comments