34.3 C
Dehradun
Tuesday, June 15, 2021
Homeउत्तराखंडऋषिकेश-कर्णप्रयाग रेल परियोजना के तहत बनेगी देश की सबसे लंबी रेल सुरंग,...

ऋषिकेश-कर्णप्रयाग रेल परियोजना के तहत बनेगी देश की सबसे लंबी रेल सुरंग, जानिए कहां-कहां बनाई जाएंगी सुरंगे

- Advertisement -
- Advertisement -

लॉकडाउन के दौरान थमा हुआ ऋषिकेश-कर्णप्रयाग रेल परियोजना का काम अब तेजी से आगे बढ़ रहा है। प्रोजेक्ट के तहत देवप्रयाग से पौड़ी जिले में पड़ने वाले स्टेशन जनासू तक 14.5 किमी लंबी डबल ट्यूब सुरंग बनाई जाएगी। जो देश की सबसे लंबी रेल सुरंग होगी। ऋषिकेश से कर्णप्रयाग तक बनने वाली 125 किलोमीटर लंबी रेल लाइन 17 सुरंगों से होकर गुजरेगी। इसी क्रम में देवप्रयाग से जनासू स्टेशन तक डबल ट्यूब सुरंग बनाई जानी है। डबल ट्यूब सुरंग 14.5 किलोमीटर लंबी होगी। जो कि देश की सबसे लंबी सुरंग होगी। इस वक्त सबसे लंबी सुरंग का खिताब जम्मू-कश्मीर के पीर पंजाल में बनी सुरंग के पास है। जिसकी लंबाई 11.2 किलोमीटर है। जबकि उत्तराखंड में बनने वाली सुरंग की लंबाई 14.5 किलोमीटर होगी।

पर्यटन को मिलेगा नया आयाम

परियोजना का काम पूरा होने के बाद उत्तराखंड में स्थित चारधाम की यात्रा सुगम और सुरक्षित होगी। इससे उत्तराखंड में पर्यटन को नए आयाम मिलेंगे। उत्तराखंड क्योंकि चीन सीमा से सटा राज्य है, इसलिए यह परियोजना सामरिक दृष्टि से भी महत्वपूर्ण है। रेल विकास निगम के परियोजना प्रबंधक ओमप्रकाश मालगुड़ी ने बताया कि परियोजना के तहत बनने वाली 11 सुरंगों की लंबाई छह किलोमीटर या इससे ज्यादा है। जबकि छह की लंबाई इससे कम है। परियोजना के तहत सबसे लंबी सुरंग देवप्रयाग से जनासू के बीच बनेगी।

कहां-कहां बनाई जाएंगी सुरंगे

ढालावाला से शिवपुरी तक 10.8 किमी लंबी सुरंग बनेगी। शिवपुरी से गुलर तक 6.4 किमी, गूलर से व्यासी तक 6.7 किमी, व्यासी से कौडियाला तक 2.2 किमी, कौडियाला से बागेश्वर तक 9.7 किमी, राजचौरा से पौड़ी नाला तक 220 मीटर, पौड़ी नाला से देवप्रयाग तक 1.2 किमी, देवप्रयाग से जनासू तक 14.5 किमी, लछमोली से मलेथा तक 2.8 किमी, मलेथा से श्रीनगर 4.2 किमी, श्रीनगर से धारी तक 9.0 किमी, धारी से नरकोटा 7.0 किमी, नरकोटा से तिलानी 9.4 किमी, तिलानी से घोलतीर तक 6.4 और घोलतीर से गौचर तक 7.1 किमी लंबी सुरंग बनाई जाएगी। इसी तरह रानो से सिवाई तक 6.4 और सिवाई से कर्णप्रयाग तक 200 मीटर लंबी सुरंग बनाई जाएगी।

1 COMMENT

  1. Janasu pauri mai jo jameen mai surang aur rail ki patri bann rahi hai waha ki hamari jameen ka muawja abhi tak nahi mila 1 saal se uper ho gaya

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

- Advertisment -

Most Popular

Recent Comments