34.3 C
Dehradun
Tuesday, March 9, 2021
Home उत्तराखंड चमोली आपदा: चमोली आपदा में ऋषिगंगा पावर प्रोजेक्ट और तपोवन विष्णुगाड पावर...

चमोली आपदा: चमोली आपदा में ऋषिगंगा पावर प्रोजेक्ट और तपोवन विष्णुगाड पावर प्लांट हुए तबाह, पहाड़ पर आया आर्थिक संकट

- Advertisement -
- Advertisement -

उत्तराखंड के चमोली जिले में आई आपदा के बाद पहाड़ को आर्थिक संकट से गुजरना पड़ता रहा है। इस आपदा से 2006 से बन रहा ऋषिगंगा पावर प्रोजेक्ट और तपोवन विष्णुगाड पावर प्लांट को नुकसान हुआ है। ऋषिगंगा पावर प्लांट रैणी गांव में स्थित 11 मेगावाट का प्रोजेक्ट है जो कि धौलीगंगा नदी में स्थित है और इसी के आगे कुछ ही दूरी पर तपोवन में तपोवन विष्णुगाड पावर प्लांट है जो 520 मेगावाट क्षमता का है। अब दोनों ही प्रोजेक्ट तबाह हो चुके हैं। चमोली जिले में ग्लेशियर टूटने से ऋषिगंगा और धौलीगंगा नदियों में भयंकर उफान आया जिससे वहां बन रहा पावर प्रोजेक्ट पूरी तरह से तबाह हो गए। 2019 में एक सर्वे में खुलासा हुआ है कि वर्तमान समय में हिमालय के ग्लेशियरों के पिघलने की रफ्तार पिछली सदी के आखिरी 25 साल के मुकाबले दोगुनी हो चुकी है। तापमान बढ़ने से ग्लेशियरों के निचले हिस्से को नुकसान हो रहा है। इस सर्वे के लिए 10 सालों का सैटेलाइट डेटा लिया गया था, जिसमें भारत के साथ चीन, नेपाल और भूटान के आंकड़े शामिल हैं। जिसमें उत्तराखंड भी शामिल था। यह भीषण आपदाएं प्रकति के साथ खिलवाड़ किए जाने का ही नतीजा है। जिसे आम जनता को झेलना पड़ रहा है। सभी जगह हमारे पहाड़ व्यापारिक और आर्थिक दोहन का शिकार हो रहे हैं। जिससे यह आपदाएं आ रही है।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

- Advertisment -

Most Popular

Recent Comments