34.3 C
Dehradun
Wednesday, June 16, 2021
Homeदेशहोम आइसोलेशन के मरीजों के लिए जारी हुई संशोधित गाइडलाइन, ये काम...

होम आइसोलेशन के मरीजों के लिए जारी हुई संशोधित गाइडलाइन, ये काम न करें नहीं तो बढ़ सकता है खतरा

- Advertisement -
- Advertisement -

हर रोज कोरोना संक्रमण का ग्राफ तेजी से बढ़ता जा रहा है। जिससे अस्पतालों में भी बड़ी संख्या में मरीज भर्ती हो रहे हैं। वही कुछ मरीजों पर कोरोना के हल्के लक्षण होने पर उन्हें होम आइसोलेशन में रखा जा रहा है। जिनके लिए नई गाइडलाइन जारी की गई है। केंद्रीय स्वास्थ्य मंत्रालय ने होम आइसोलेशन में रहने वाले हल्के संक्रमण या बिना लक्षण वाले मरीजों के लिए संशोधित दिशानिर्देश जारी किए हैं। अब मरीज होम आइसोलेशन में 10 दिनों तक रहने और लगातार तीन दिनों तक बुखार न आने की स्थिति में होम आइसोलेशन से बाहर आ सकते हैं। वही होम आइसोलेशन में रह रहे मरीज मरीज के सेल्फ आइसोलेशन की उनके घर पर व्यवस्था होनी चाहिए। ऐसे मरीज जिस कमरे में रहते हों उसका आक्सीजन सैचुरेशन भी 94 फीसद से ज्यादा होना चाहिए और उसमें वेंटिलेशन की भी बेहतर व्यवस्था होनी चाहिए। होम आइसोलेशन में रह रहे मरीजों को हल्के लक्षण होने पर व बुखार आने पर पेरासिटामोल 650 एमजी दी जा सकती है। अगर इसके बाद भी बुखार नियंत्रित नहीं होता हो तो डॉक्टर से संपर्क कर सकते हैं जो नोप्रोक्सेन 250 एमजी जैसी नॉन-स्टेयरॉयडल एंटी-इंफ्लेमेटरी ड्रग दवाइयां दिन में दो बार दे सकते हैं। पांच दिन से अधिक बुखार/खांसी रहने पर इंहेलर के जरिए इन्हेलेशनल बूडेसोनाइड दिन में दो बार 800 एमसीजी की डोज दे सकते हैं। होम आइसोलेशन में रह रहे मरीज को रेमडेसिविर इंजेक्शन न दे।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

- Advertisment -

Most Popular

Recent Comments