34.3 C
Dehradun
Sunday, January 24, 2021
Home उत्तराखंड उत्तराखंड में अटल आयुष्मान योजना से लोगों को मिला है लाभ, गरीब...

उत्तराखंड में अटल आयुष्मान योजना से लोगों को मिला है लाभ, गरीब वर्गों को मिला है बेहतर उपचार

- Advertisement -
- Advertisement -

उत्तराखंड में दो साल पहले शुरू हुई अटल आयुष्मान योजना से लोगों के लिए वरदान बनकर आई । इससे गरीब वर्गों को फायदा मिला, जिसके तहत उन्होंने अच्छे अस्पताल में अपना उपचार भी कराया। राज्य सरकार की अटल आयुष्मान उत्तराखंड योजना से जनता को लाभ मिला है। समाज के पिछड़े और असहाय तबके के लिए तो यह योजना वरदान साबित हुई है। उत्तराखंड में बीते दो साल की अवधि में 2 लाख से अधिक लोग इस योजना का लाभ उठा चुके हैं।

उत्तराखंड के मुख्यमंत्री त्रिवेंद्र सिंह रावत ने इस योजना की अहमियत को समझते हुए हर उत्तराखंडी को इसका लाभ देने का फैसला लिया। पूर्व प्रधानमंत्री स्व. अटल बिहारी बाजपेई की स्मृति में शुरू की गई इस योजना को आज दुनिया की सबसे बड़ी हेल्थ स्कीम माना जाता है। पूरे देश में 25 दिसंबर 2018 को इस योजना की जब शुरूआत हुई तो उत्तराखंड के गरीब तबके के करीब 5.25 लाख लोगों को इसमें शामिल किया गया। योजना के तहत उत्तराखंड के सरकारी या प्राइवेट अस्पतालों में कहीं भी लोग पांच लाख रुपये तक अपना और परिजनों का मुफ्त में इलाज करा सकते हैं। आज इस योजना में लोग कैंसर, हार्ट, गुर्दा रोग जैसी जटिल बीमारियों का मुफ्त इलाज करा रहे हैं। उत्तराखंड समूचे भारतवर्ष में एकमात्र ऐसा राज्य है जो अपने प्रदेश के समस्त नागरिकों (लगभग 25 लाख परिवार) को ‘अटल आयुष्मान योजना’ के तहत स्वास्थ्य सुरक्षा की गारंटी दे रहा है। तमाम गंभीर रोगों से ग्रस्त लोगों को इस योजना के लाभ से नई जिंदगी मिली है। ऐसा कोई गांव, कस्बा या शहर नहीं जहां इस योजना का लाभान्वित व्यक्ति न मिले। दो सालों में योजना की सफलता के आंकड़े खुद में बहुत कुछ बयां कर रहे हैं। इस अवधि में 2,24,661 मरीज इसमें अपना इलाज करा चुके हैं। उनके इलाज पर राज्य सरकार ने तकरीबन 230 करोड़ रुपए खर्च किए। राज्य में स्वास्थ्य सेवाओं के सुधार की दिशा में राज्य सरकार हमेशा बेहतर कार्य करेगी और निरंतर प्रयासरत रहेगी।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

- Advertisment -

Most Popular

Recent Comments