34.3 C
Dehradun
Friday, April 23, 2021
Homeउत्तराखंडऑनलाइन क्लास: छात्रों के घर में फोन नहीं तो पड़ोसियों के घर...

ऑनलाइन क्लास: छात्रों के घर में फोन नहीं तो पड़ोसियों के घर में होगा पढ़ाना

- Advertisement -
- Advertisement -

ऑनलाइन पढ़ाई अब अध्यापकों के लिए आसान नहीं होगी। जिन छात्र-छात्राओं के पास टेलीविजन, इंटरनेट, स्मार्टफोन और लैपटॉप, टीवी है, उन्हें इन माध्यमों से पढ़ाना होगा। जिनके पास सामान्य फोन हैं, उनके साथ सुबह बात करनी होगी ताकि बाद में उनके माता-पिता घर से न निकल जाएं।

साथ ही ऐसे छात्र जिनके पास फोन नहीं है, उनके पड़ोस के छात्रों को फोन कर, उक्त छात्रों के माता पिता को प्रेरित करना होगा कि, वे पड़ोस के छात्रों साथ पढ़ाई कर सकें। ऑनलाइन पढ़ाई के लिए यह नया कार्यक्रम ‘प्रज्ञाता’ तैयार किया गया है, जिसे सभी सीईओ को लागू करने के आदेश जारी कर दिए हैं। हालांकि ऑनलाइन शिक्षा का यह नया प्रयोग सफल होगा, इसमें संदेह है।

छात्रों की चार श्रेणियां : केंद्र सरकार के प्रज्ञाता फार्मूले के अनुसार, संसाधनों की उपलब्धता के आधार पर छात्रों की चार श्रेणियां बनाईं जाएंगी। ए-जिनके पास टेलीविजन, इंटरनेट, स्मार्टफोन व लैपटॉप है। बी- इंटरनेट, स्मार्टफोन, टेलीविजन है पर लैपटॉप नहीं है। सी-केवल सामान्य फोन है और डी- सामान्य मोबाइल फोन भी नहीं है। इन श्रेणियों के आधार पर शिक्षक पढ़ाई का फार्मेट तैयार करेंगे।

चार लाख छात्र कर रहे ऑनलाइन पढ़ाई!
शिक्षा विभाग का दावा है कि वर्तमान में बेसिक से माध्यमिक स्तर तक पंजीकृत सात लाख छात्रों में चार लाख विभिन्न माध्यमों से घर पर ही पढ़ाई कर रहे हैं। निदेशक-एआरटी के अनुसार, इनमें दूरदर्शन, रेडियो और शिक्षकों के साथ वाट्सअप से जुड़कर पढ़ रहे छात्र शामिल हैं।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

- Advertisment -

Most Popular

Recent Comments