34.3 C
Dehradun
Monday, March 1, 2021
Home देश 26 जनवरी को दिल्ली में किसान ट्रैक्टर परेड के दौरान हुई हिंसा मामले...

26 जनवरी को दिल्ली में किसान ट्रैक्टर परेड के दौरान हुई हिंसा मामले में सुप्रीम कोर्ट ने सुनवाई से किया इंकार, कहा केंद्र करेगी इसकी जाँच

- Advertisement -
- Advertisement -

किसानों द्वारा 26 जनवरी को किसान ट्रैक्टर परेड रैैैली के दौरान हुई भीषण हिंसा से बहुत नुकसान हुआ, वही इस मामले में कई लोगों के खिलाफ कार्रवाई भी हुई। सिंधु बार्डर पर इंटरनेट सेवाएं बंद कर दी गई। वही सुप्रीम कोर्ट से जुड़ा मामला सामने आया है। 26 जनवरी दिल्ली में  किसान ट्रैक्टर परेड के दौरान हुई हिंसा मामले में सुनवाई से सुप्रीम कोर्ट ने इंकार कर दिया है। बुधवार को हिंसा से संबंधित याचिकाओं पर सुप्रीम कोर्ट ने कहा कि इस मामले में सुनवाई नहीं होगी। केंद्र मामले को देख रही है। चीफ जस्टिस ऑफ इंडिया (CJI) ने कहा कि प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने अपने एक बयान में कहा था कि कानून अपना काम करेगा, ऐसे में हम दखल नहीं देना चाहते।

26 जनवरी को दिल्ली में किसानों की ट्रैक्टर रैली के दौरान हुई हिंसा की न्यायिक जांच की मांग वाली याचिकाओं पर सुनवाई से इनकार करते हुए सुप्रीम कोर्ट ने याचिकाकर्ताओं से कहा है कि वे सरकार को ज्ञापन सौंपे। दूसरी तरफ किसानों की ट्रैक्टर परेड के दौरान हुई हिंसा को लेकर कई भ्रामक ट्वीट करने के आरोप में दर्ज एफआईआर को लेकर कांग्रेस सांसद शशि थरूर सहित अन्य लोगों ने भी सुप्रीम कोर्ट का दरवाजा खटखटाया। पत्रकार राजदीप सरदेसाई, मृणाल पांडे, जफर आगा, परेश नाथ और अनंत नाथ ने इन एफआईआर के खिलाफ मंगलवार शाम को सुप्रीम कोर्ट का रुख किया था। CJI ने आगे कहा, ‘सरकार ने इसे काफी गंभीरता से लिया है। हमने प्रधानमंत्री का बयान भी सुना है। उन्होंने कहा है कि कानून अपना काम कर रहा हैै। इसलिए सरकार को इसकी जांच करने दीजिए।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

- Advertisment -

Most Popular

Recent Comments