34.3 C
Dehradun
Tuesday, May 18, 2021
Homeउत्तराखंडविधायक समर्थकों और इंजीनियरों में मारपीट, दोनों पक्षों में जमकर चले लात-घूंसे

विधायक समर्थकों और इंजीनियरों में मारपीट, दोनों पक्षों में जमकर चले लात-घूंसे

- Advertisement -
- Advertisement -

अमोड़ी में रविवार शाम ऑलवेदर रोड निर्माण कर रही कंपनी के इंजीनियर टीम और चम्पावत के विधायक कैलाश गहतोड़ी व उनके समर्थक के बीच शुरू हुए विवाद तूल पकड़ गया।

बवाल बढ़ने पर मौके पर जमकर लाठी-डंडे और लात-घूंसे चले। एक ग्रामीण की तहरीर पर कंपनी के एक इंजीनियर के खिलाफ पुलिस ने मुकदमा दर्ज कर लिया।

इससे गुस्साए निर्माण कंपनी ने काम ठप कर दिया। सात घंटे हाईवे बंद रहा, जिससे सैकड़ों लोगों को परेशानी उठानी पड़ी।  कंपनी की तरफ से भी विधायक और उनके  समर्थकों के खिलाफ पुलिस को तहरीर दी गई है।

रविवार शाम विधायक कैलाश गहतोड़ी चम्पावत से टनकपुर की ओर जा रहे थे। इसी बीच अमोड़ी में स्थानीय ग्रामीण ऑलवेदर रोड निर्माण कर रही कंपनी के इंजीनियरों को खेतों और पेयजल लाइन में सड़क का मलबा डालने का विरोध कर रहे थे।

बताया जा रहा है कि विधायक के पहुंचने पर दोनों पक्षों के बीच चल रहे विरोध-प्रदर्शन ने हिंसक रूप ले लिया। देखते ही देखते घटनास्थल पर मारपीट शुरू हो गई थी।

जमकर लाठी-डंडे  चले। एक ग्रामीण की तरहरी पर देर शाम चल्थी पुलिस ने एनएच-नौ के अथोरिटी इंजीनियर टीम के लीडर विपुल अग्रवाल के खिलाफ मुकदमा दर्ज कर दिया था।

इससे आक्रोशित शिवालया कंपनी ने सोमवार को सड़क निर्माण कार्य ठप कर दिया था। साथ ही विधायक समेत अन्य लोगों के खिलाफ तहरीर भी सौंपी।

हाईवे पर जगह-जगह बोल्डर पड़े रहे, जिन्हें बाद में पीएमजीएसआई की जेसीबी से हटाकर यातायात सुचारू कराया गया।

इंजीनियर टीम से मारपीट की तहरीर दी
चम्पावत कोतवाली में सौंपी तहरीर में शिवालया कंस्ट्रक्शन कंपनी के प्रोजेक्ट हेड सुरेंद्र राणा का बताया कि भारी बारिश के कारण रविवार को अमोड़ी के पास एनएच बंद चल रहा था, जिसे खोलने के लिए पर्याप्त मशीनें तैनात की गई थी।

उस वक्त ॲथॉरिटी इंजीनियरों की टीम बारिश के कारण सड़क और गांव में आए मलबे का निरीक्षण करने पहुंची थी। उसी दौरान चम्पावत विधायक 50-60 लोगों के मौके पर पहुंच गए थे।

सुरेंद्र राणा का आरोप है कि विधायक और उनके साथ मौजूद भीड़ ने टीम पर लाठी-डंडों से जानलेवा हमला किया। यह भी आरोप लगाया कि विधायक समर्थक टीम लीडर विपुल अग्रवाल को जबरन गाड़ी में उठा ले गए और उसपर मुकदमा दर्ज कर दिया गया। उन्होंने पुलिस से कंपनी के लोगों की सुरक्षा के लिए फोर्स तैनात करने की मांग उठाई।

इंजीनियर ग्रामीणों को धमका रहे थे : गहतोड़ी
ऑलवेदर सड़क निर्माण में जुटी शिवालया कंपनी की ओर से पुलिस को दी गई तहरीर पर विधायक कैलाश गहतोड़ी का आरोप है कि कंपनी के इंजीनियर अमोड़ी के पास भोले-भाले ग्रामीणों को धमका रहे थे।

उन्हें पौकलैंड से कुचलने की धमकी दे रहे थे। विधायक का आरोप है कि ग्रामीणों की शिकायत पर पहुंचे तो कंपनी के इंजीनियरों ने उन्हें भी धमकी दी और उनके साथ अभद्रता की। इस पर ग्रामीण आक्रोशित हो गए थे।

लिहाजा हालात भांपते हुए वह इंजीनियरों को बचाकर चल्थी चौकी ले गए, जहां उन्हें सीओ के संरक्षण में सौंप दिया गया था।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

- Advertisment -

Most Popular

Recent Comments