34.3 C
Dehradun
Wednesday, January 20, 2021
Home एंटरटेनमेंट मिर्ज़ापुर 2 में कालीन भइया के बेटे मुन्ना त्रिपाठी का किरदार और...

मिर्ज़ापुर 2 में कालीन भइया के बेटे मुन्ना त्रिपाठी का किरदार और भयावह होगा

- Advertisement -
- Advertisement -

अमेजन प्राइम वीडियो की वेब सीरीज मिर्जापुर(Mirzapur) भारत में बनी कुछ बेहद सफल वेब सीरीज में पहले पायदान पर मानी जाती है. छोटे शहरों के गैंग्स्टर और उनकी जुर्म की दुनिया से प्रभावित होने वाले युवाओं की कहानी को करण अंशुमन और गुरदीप सिंह ने इतने बेहतरीन तरीके से लोगों के सामने पेश किया कि मिर्जापुर की दीवानगी लोगों के सिर चढ़कर बोलने लगी. मिर्जापुर(Mirzapur) के पहले सीजन के रिलीज के 2 साल होने को हैं और दूसरे सीजन का लोग बेहद बेसब्री से हर दिन इंतजार कर रहे हैं. मिर्जापुर(Mirzapur) में ऐसी क्या बात थी कि लोगों को यह वेब सीरीज बहुत ज्यादा पसंद आई, यह सवाल अक्सर लोगों के जेहन में आता है और वो फिर से मिर्जापुर देखकर इस सवाल का खुद ही जवाब ढूंढ लेते हैं. कालीन भैया, मुन्ना त्रिपाठी, गुड्डू पंडित, बब्लू पंडित, गजगामिनी और वीणा त्रिपाठी जैसे किरदार लोगों के मन में रच बस गए हैं और जिस एक किरदार ने मिर्जापुर के पहले सीजन में लोगों का सबसे ज्यादा ध्यान अपनी ओर खींचा, वो था मुन्ना त्रिपाठी के किरदार में दिव्येंदू शर्मा.

यूं तो मिर्जापुर को लोग कालीन भैया के किरदार में पंकज त्रिपाठी, गुड्डू पंडित के रूप में अली फजल, बब्लू पंडित के रूप में विक्रांत मेसी जैसे किरदारों के लिए जानते हैं, लेकिन एपिसोड दर एपिसोड जिस तरह मुन्ना त्रिपाठी के किरदार ने रंग पकड़ा, उसके बाद लास्ट एपिसोड में तो जैसे दिव्येंदू शर्मा ने बाकी सभी कलाकारों को अदाकारी और स्क्रीन प्रजेंस के मामले में पीछे छोड़ दिया. जिस दिव्येंदू को दुनिया चॉकलेटी बॉय के रूप में जानती थी और फिल्मों में देखा भी, मिर्जापुर में उनका इतना भयावह और खतरनाक रूप हो सकता है, यह सोचकर और देखकर लोग हैरान रह गए. हाथों में कट्टा, जुबां पर बेतहाशा गाली और दबंग अंदाज में चलने वाला बेहद सामान्य कद-काठी का मुन्ना अपनी अदाकारी से धीरे-धीरे कहर बरपाता गया और मिर्जापुर वेब सीरीज से लोगों के दिलों पर अमिट छाप छोड़ता गया. मिर्जापुर 2 में मुन्ना त्रिपाठी का किरदार और भयावह होने वाला है, जिसे देखने के लिए जनता परेशान हो रही है.

चॉकलेटी बॉय से दबंग मुन्ना का सफर

साल 2011 में एक फ़िल्म आई थी प्यार का पंचनामा. उस फ़िल्म में एक किरदार का नाम था निशांत अग्रवाल उर्फ लिक्विड. छोटा और प्यारा सा दिखने वाला लिक्विड अक्सर लड़कियों से धोखा खाता था और प्यार की पहेली को समझ नहीं पाता था. इस लिक्विड का किरदार दिव्येंदू शर्मा ने ही निभाया था. पुणे स्थित फ़िल्म एंड टेलीविजन इंस्टिट्यूट से एक्टिंग में डिप्लोमा कोर्स करने वाले दिव्येंदू के पास बीते 9 वर्षों के दौरान फ़िल्मों के महज 11 ऑफर आए, जिसमें 2 फ़िल्में तो ओटीटी प्लैटफॉर्म के लिए ही बनी थी. एक बेहद टैलेंटेड एक्टर सीमित काम के अभाव में अपनी अदाकारी का जलवा दिखाने में लगभग नाकाम साबित हो रहा था और उसे प्यार का पंचनामा, टॉयलेट एक प्रेम कथा और बत्ती गुल मीटर चालू जैसी फ़िल्म में ही अच्छी भूमिका मिल पाई थी. लेकिन साल 2018 में उसे मिर्जापुर नाम की वेब सीरीज हाथ लगी, जिसने दिव्येंदू के एक्टिंग करियर को जैसे बुलंदी पर पहुंचा दिया.

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

- Advertisment -

Most Popular

Recent Comments