34.3 C
Dehradun
Tuesday, January 26, 2021
Home उत्तराखंड भारत माँ की बेटियों का आखिर कब तक होगा चीरहरण ? देश...

भारत माँ की बेटियों का आखिर कब तक होगा चीरहरण ? देश के कानून के पास है कोई जवाब: अंतराष्ट्रीय समाजसेवी रोशन रतूड़ी

- Advertisement -
- Advertisement -

भारत देश में एक और लोग जहा अच्छे दिनों के इंतज़ार में है। वही दूसरी और देश में आये दिन बलात्कार के मामले सामने आते रहते है। आखिर कब तक भारत माँ की बेटियों का चीरहरण होता रहेगा। आखिर कब तक लड़किया रात के अँधेरे में बाहर निकलने से डरती रहेगी। इसी संभंद में अंतराष्ट्रीय समाजसेवी रोशन रतूड़ी देश के कानून से सवाल पूछते हुए कहते है की आखिर कब तक भारत देश में हमारी मां, बहनों, भारत की बेटियों के साथ गैग रेप जैसे अपराध होते रहेंगे ? क्या हमारे देश का कानून इसका जवाब दे सकता है ? क्या बेटियों का होना गुनाह है ? क्यों हैवानो को सीधा फाँसी नही दी जाती है ? क्यों शैतान बलात्कारीयों को जेल मै रोटीयां खिलाई जाती है ? क्या अपराधियों के सामने कानून लचार है ?

साथ ही अंतराष्ट्रीय समाजसेवी रोशन रतूड़ी कहते है की भारत के महामहिम राष्ट्रपति श्री राम नाथ कोविंद जी,व माननीय प्रधानमंत्री श्री नरेन्द्र मोदी जी, व हाई कोर्ट, सुप्रीम कोर्ट न्यायपालिका से और राष्ट्रीय महिला आयोग से आप सभी से मेरा निवेदन है कि जितने भी शैतान दरिदें बलात्कारी देश के अलग-अलग जैलों मै बदं हैं, चाहे कितना भी बडा रसूखदार क्यों ना हो, किसी भी पार्टी का क्यों ना हो, उन सब बलात्कारी आरोपियों को तुरंत फाँसी पर लटकाया जाये। तभी हमारी भारत की माँ-बहने अपने आप को सुरक्षित समझने लगेंगी।

क्यो लोगों का आज कानून पर विश्वास नहीं रहा ? क्यों दरिदों को जेलों मे बिरयानी खिलाई जा रही है ? देश मै कानून है कि नही ? यह देश गंगा, जमुना, सरस्वती, भारत माता के नाम से जाना जाता है ! बलात्कारीयों को सीधा फाँसी होनी चाहिए ! -अंतराष्ट्रीय समाजसेवी रोशन रतूड़ी

वही हाथरस गैंगरेप की घटना के बारे में बात करते हुए रतूड़ी कहते है की दरिंदगी की शिकार दलित बच्ची जिसकी गैंग रेप के बाद दबंगों ने जीभ काटी, स्पाइन तोड़ दी, गला घोंटा और फिर उसके पिता की भी उँगलियाँ काट डाली थी। जिसकी गैंगरेप धारा लिखने में यूपी पुलिस को 8 दिन लगे थे। वो ज़िन्दगी की जंग हार गई। पता नहीं यह हैवानियत और घृणित मानसिकता कब रुकेगी। आखिर इस मासूम बहन का क्या कसुर था ? अगर कानून को अपराधियों से डर लगता है,तो हमे इजाजत दे, जितने भी हैवान बलात्कारी है,उन सबको बीच चौराहा पर जिंदा जला देंगे ।

https://m.facebook.com/story.php?story_fbid=1596692157170256&id=104725420273746&sfnsn=mo&extid=a2IjslhdSFFG4G2a

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

- Advertisment -

Most Popular

Recent Comments