34.3 C
Dehradun
Sunday, May 9, 2021
Homeउत्तराखंडघर का इकलौता चिराग बुझ गया , IMA देहरादून से 2018 में...

घर का इकलौता चिराग बुझ गया , IMA देहरादून से 2018 में पास आउट हुए थे कैप्टन आशुतोष..

- Advertisement -
- Advertisement -

बीएसएफ के कैप्टन आशुतोष कुमार समेत चार जवान जम्मू-कश्मीर के कुपवाड़ा सेक्टर के माछिल इलाके में आतंकियों के घुसपैठ को नाकाम करने के दौरान शहीद हो गए। इस दौरान सेना ने भी तीन आतंकियों को मार गिराया है। मृतक कैप्टन आशुतोष कुमार, घैलाढ़ प्रखंड के भतरंधा परमानंदपुर पंचायत के जागीर टोला वार्ड-17 के रहने वाले थे। आशुतोष के पिता रविंद्र भारती घैलाढ़ पशु अस्पताल में अनुसेवक हैं। दो साल पहले ही आशुतोष की नौकरी लगी थी और वह नौ माह से बॉर्डर पर तैनात थे। घटना की जानकारी मिलने के बाद कैप्टन आशुतोष के घर के साथ साथ गांव में मातम पसर गया है। आशुतोष के पिता को शाम पांच बजे के आसपास उनके शहीद होने की सूचना दी गई। कैप्टन आशुतोष की शहादत की खबर मिलते ही उनके गांव में शोक का माहौल है। शहीद के परिवारों का रो-रोकर बुरा हाल हो गया है। ग्रमीणों द्वारा बताया गया कि आशुतोष बहुत ही मिलनसार थे। वह पढऩे के दौरान काफी मेधावी थे। गांव आने पर वह हमेशा नौजवानों को सेना में भर्ती होने के लिए बहुत प्रेरित करते थे।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

- Advertisment -

Most Popular

Recent Comments