34.3 C
Dehradun
Tuesday, June 15, 2021
Homeउत्तराखंडबेरहम पिता: सीने पर लात मारकर एक बाप ने की दो वर्षीय...

बेरहम पिता: सीने पर लात मारकर एक बाप ने की दो वर्षीय मासूम की हत्या, वजह जान दहल जाएगा आपका दिल

- Advertisement -
- Advertisement -

उत्तराखंड के टनकपुर से एक दिल दहला देने वाली वारदात सामने आई है। नींद टूटने से बेरहम पिता नरेश ने लात-घूसों से दो साल के मासूम बच्चे को पीटा और उसके पेट में प्रहार कर उसकी चार पसलियां तोड़ डालीं। मां बीच-बचाव के लिए पहुंची तब तक बच्चे के मुंह से खून निकलने लगा था। अंदरूनी चोट के कारण उसमें बेहोशी छाने लगी । बावजूद इसके उस दरिंदे का दिल नहीं पिघला और वह घायल बच्चे को तड़पता छोड़कर घर से भाग निकला। साथ ही घायल बच्चे को घर से बाहर या अस्पताल ले जाने पर वह अपनी पत्नी शबाना को जान से मारने की धमकी दे गया।

पुलिस ने मासूम की मां से पूछताछ के बाद हत्या के रहस्य का पर्दाफाश कर दिया । पुलिस ने आरोपी सौतेले बाप को गिरफ्तार कर अदालत के आदेश पर जेल भेज दिया है। बता दें कि रविवार को शहर के वार्ड संख्या चार निवासी नरेश कुमार के दो वर्षीय बेटे सोनू की संदिग्ध हालात में मौत हो गई थी।

पुलिस के मुताबिक वारदात 29 अगस्त की सुबह करीब साढ़े चार बजे की है। सुबह होने के बाद वह तड़पते बच्चे को छोड़कर निकल गया था। शाम करीब छह बजे वह घर लौटा तो तब तक बच्चे की आंखें बंद हो चुकी थीं। पत्नी की जिद पर वह बच्चे को गोद में लेकर अस्पताल की ओर ले जा रहा था। रेलवे क्रासिंग के पास पहुंचते ही नरेश समझ चुका था कि अब मासूम सोनू जिंदा नहीं है। इस पर वह बच्चे का शव शबाना को थमाकर मौके से भाग खड़ा हुआ। शबाना चिल्लाती रही कि ‘रोको-रोको हत्यारा भाग रहा है’ पर वह हत्थे नहीं चढ़ा। अस्पताल में चिकित्सकों ने सोनू की मौत की पुष्टि कर दी। शक होने पर पुलिस ने नरेश को हिरासत में लेकर सख्ती से पूछताछ शुरू की तो हत्यारोपी टूट गया और उसने राज उगल दिया।

24 घंटे तक तड़पता रहा मासूम

आरोपी बाप नरेश ने किसी और वजह से नहीं बल्कि मासूम के रोने की वजह से सौतेले मासूम बेटे की हत्या की। आरोपी के गुस्से में सीने पर लात मारने के बाद सोनू 24 घंटे तक तड़पता रहा, लेकिन पत्नी के कहने के बाद भी नरेश उसे उपचार के लिए अस्पताल नहीं ले गया।

शहर के रेलवे कॉलोनी वार्ड संख्या चार निवासी शबाना ने अपने पहले पति राजू मियां से संबंध विच्छेद कर एक पुत्र और एक पुत्री के साथ पीलीभीत जिले के देवरिया निवासी नरेश पुत्र हीरा लाल के साथ विवाह किया था। बताया गया कि नरेश मजदूरी कर परिवार का भरण-पोषण कर रहा था, लेकिन पत्नी के साथ आए दोनों सौतेले बच्चे से उसे कोई लगाव नहीं था।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

- Advertisment -

Most Popular

Recent Comments