34.3 C
Dehradun
Friday, April 23, 2021
HomeदेशAAP नेता ने फाड़ा रेलवे का नोटिस, कहा- किसी को बेघर नहीं...

AAP नेता ने फाड़ा रेलवे का नोटिस, कहा- किसी को बेघर नहीं होने देगी दिल्ली सरकार

- Advertisement -
- Advertisement -

आम आदमी पार्टी (AAP) के प्रवक्ता राघव चड्ढा ने एक प्रेस कॉन्फ्रेंस में झुग्गियों पर चिपकाए गए रेलवे के नोटिस को फाड़ दिया. प्रेस कॉन्फ्रेंस में राघव चड्ढा ने कहा कि ‘मैं आज यह नोटिस फाड़ता हूं और यह कहता हूं कि हम किसी का घर उजड़ने नहीं देंगे.’

आम आदमी पार्टी के नेता राघव चड्ढा ने कहा, केजरीवाल सरकार की हर धड़कन में हमारे झुग्गी झोपड़ी में रहने वालों की फिक्र है. केजरीवाल सरकार पहली सरकार है जिसने झुग्गी झोपड़ी वालों को परिवार माना. उनके लिए केजरीवाल सिर्फ मुख्यमंत्री ही नहीं, बड़े बेटे जैसे हैं. केजरीवाल ने आजतक इनके ऊपर हल्की खरोंच तक नहीं आने दी. आज बीजेपी को चेतावनी देना अनिवार्य हो गया है, बीजेपी ने लोगों के घरों पर नोटिस लगाने शुरू कर दिए हैं.

नोटिस की जानकारी देते हुए राघव चड्ढा ने कहा, तुगलकाबाद की झुग्गियों में नोटिस लगा है कि 11 सितंबर 2020 को आपका घर उजाड़ दिया जाएगा. इसी तरह दूसरी जगहों पर 14 सितंबर को झुग्गी उजाड़ने की बात कही गई है. केंद्र की बीजेपी का यह नोटिस मानवता, संविधान और सम्मानजनक जीवन जीने के अधिकार के खिलाफ है. जब तक अरविंद केजरीवाल जिंदा हैं, तब तक एक भी झुग्गी में रहने वाले परिवार को बेघर नहीं होने देंगे.

प्रेस कॉन्फ्रेंस में राघव चड्ढा ने कहा, मैं आज यह नोटिस फाड़ता हूं और कहता हूं कि हम किसी का घर उजड़ने नहीं देंगे. बीजेपी को चेतावनी देता हूं कि हमारे परिवार की ओर आंख उठाकर भी मत देखना, वरना ईंट से ईंट बजा देंगे. जिनके घर उजाड़ना चाहते हैं वे सब इसी देश के नागरिक हैं, हमारी भारत माता के बच्चे हैं. मुख्यमंत्री केजरीवाल रणनीति बना रहे हैं कि कि बीजेपी की इस साजिश को कैसे रोका जाए.

राघव चड्ढा ने कहा, इसके लिए सुप्रीम कोर्ट का दरवाजा भी खटखटाया जाएगा और सड़क पर भी लड़ाई लड़ी जाएगी. किसी के परिवार से छत छीन लेना, यह न होने दिया जाएगा और न बर्दाश्त किया जाएगा. मैं झुग्गी वालों को आश्वस्त करता हूं कि जब तक हम हैं, जब तक अरविंद केजरीवाल हैं तब तक ऐसा नहीं होगा. कानून कहता है, किसी को भी बिना पक्का मकान दिए पुनर्वास किए, किसी को बेघर नहीं कर सकते.

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

- Advertisment -

Most Popular

Recent Comments