34.3 C
Dehradun
Saturday, January 23, 2021
Home उत्तराखंड उत्तराखंड में गाय की रक्षा के लिए 2017 में गठित दो गौ...

उत्तराखंड में गाय की रक्षा के लिए 2017 में गठित दो गौ संरक्षण दस्त के बाद से अब तक 277 लोगों की हुई गिरफ्तारी

- Advertisement -
- Advertisement -

गाय हमारी राष्ट्र माता है और हमे इनकी सेवा करनी चाहिए। गौ रक्षा के लिए देश में कई अभियान चलाये जा रहे हैं। वही गाय को राष्ट्रमाता घोषित करने वाले देश के पहले राज्य उत्तराखंड में गाय की रक्षा के लिए गठित किए गए दो गौ संरक्षण दस्तों ने साल 2017 में अपने गठन के बाद से अब तक 277 लोगों को गिरफ्तार किया है। ये गिरफ्तारी पशु क्रूरता निवारण अधिनियम, 1960 और उत्तराखंड संरक्षण अधिनियम, 2007 के तहत की गई हैं।

आंकड़ों के अनुसार, अक्टूबर 2017 से अब तक, इन तीन सालों की अवधि में कुमाऊं क्षेत्र में दो अधिनियमों के तहत 88 मामले दर्ज किए गए और 176 लोगों को गिरफ्तार किया गया, वहीं गढ़वाल क्षेत्र में दर्ज 83 मामलों में 101 लोगों को गिरफ्तार किया गया है। इन दस्तों का गठन गाय की रक्षा और दोनों कानूनों (पशु क्रूरता निवारण अधिनियम, 1960 और उत्तराखंड संरक्षण अधिनियम, 2007) के प्रावधानों को प्रभावी तरीकों से अमल में लाने के लिए किया गया था।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

- Advertisment -

Most Popular

Recent Comments