34.3 C
Dehradun
Friday, April 23, 2021
Homeउत्तराखंडउत्तराखंड के 22 वर्षीय हिमांशु की मौत मलेशिया में, बेटे के अंतिम...

उत्तराखंड के 22 वर्षीय हिमांशु की मौत मलेशिया में, बेटे के अंतिम दर्शन के लिए तरस रहे है मां – बाप

- Advertisement -
- Advertisement -

विदेश में उत्तराखंड के एक और बेटे के मौत की दुखद खबर सामने आई है। साल 2019 से तैनात मलेशिया में मर्चेंट नेवी की एक कम्पनी ब्रॉड विन बिंटोरी एसबी में नैनीताल जिले के भीमताल के तोकगांव के बेरीजाला निवासी हिमांशु पलड़िया (22 वर्ष) पुत्र भुवनचन्द्र पलड़िया की बीते 14 अगस्त को आकस्मिक मौत हो गई है. बेटे की मौत की खबर सुन गमों के पहाड़ तले पड़ा बेसुध परिवार का लगातार रो रो कर बुरा हाल है।

मौत के एक सप्ताह के बाद भी हिमांशु का शव भारत नहीं भेजा गया है। बेटे के अंतिम दर्शनों के लिए विचलित मां – बाप और शोकाकुल परिवार बेटे को अंतिम स्पर्श की आस लगाए बैठे है मगर परिजनों की वेदना दिन प्रतिदिन दिन बढ़ती ही जा रही है।

हिमांशु मर्चेंट नेवी के जिस कम्पनी में तैनात था वहां से 14 अगस्त को उसके परिवार को फोन यह आता है कि उनके बेटे का देहांत हो गया है. और मौत की वजह किडनी फैल होना बताया गया है। यह खबर सुन कर पूरे परिवार में शोक का माहौल बना हुआ है। बताया जा रहा है शव को पोस्टमार्टम के लिए मोर्चरी में रखवाया गया है और कोरोना संबंधित औपचारिकताओं को पूरा करने के कारण शव को भारत भेजने में देरी हो रही है।

इधर जवान बेटे की अचानक मौत से शोक से घिरे परिवार वालों का सब्र और धैर्य अब जवाब देने लग गया है। शोक से व्याकुल मां बाप लगातार त्रिवेंद्र सिंह रावत, सांसद अजय भट्ट और केंद्र सरकार से बेटे को आखिरी बार देखने की गुहार लगा रहे है। सीएम के मीडिया सलाहकार रमेश भट्ट ने इस मामले पर मलेशिया के दूतावास से संपर्क कर जल्द मृतक का पार्थिव शरीर भारत भेजने को कहा है. नैनीताल सांसद अजय भट्ट ने भी विदेश मत्री जयशकर को पत्र के माध्यम से घटना से अवगत करवाया है और शीघ्र ही दिवंगत हिमांशु के पार्थिव शरीर को भारत भेजने का आग्रह किया है।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

- Advertisment -

Most Popular

Recent Comments