34.3 C
Dehradun
Sunday, October 25, 2020
Home टेक & ऑटो 2020 स्वतंत्रता दिवसः आज़ादी के बाद भारतीय बाज़ार की 5 पसंदीदा मोटरसाइकिल

2020 स्वतंत्रता दिवसः आज़ादी के बाद भारतीय बाज़ार की 5 पसंदीदा मोटरसाइकिल

- Advertisement -
- Advertisement -

yamaha rx100 main

यामाहा आरएक्स 100

पैसा वसूल ये बाइक 80 के दशक से अबतक भारत में बहुत पसंद कर जाती रही है, 98 सीसी की ये टू-स्ट्रोक बाइक 7,500 आरपीएम पर 11 बीएचपी पावर और 6,500 आरपीएम पर 10.39 एनएम पीक टॉर्क पैदा करती है. और इसकी आवाज़ तो ऐसी है कि सैकड़ों बाइक्स के बीच आपके समझ आ जाएगा कि इनमें आरएक्स100 भी है. इसकी अधिकतम स्पीड 100 किमी/घंटा है जो पलक झपकते ही तेज़ रफ्तार पकड़ लेती है. यामाहा ने इस बाइक की बिक्री 1985 से शुरू की थी.

7uk99mno

येज़्दी रोडकिंग

70 के दशक में येज़्दी की बिक्री भारत में शुरू की गई थी और इसका सटीक वर्ष 1973 है. इस मोटरसाइकिल रेन्ज का सबसे ज़्यादा पसंद किया जाने वाला मॉडल येज़्दी रोडकिंग रही जिसका उत्पादन 1978 से 1996 के बीच किया गया. येज़्दी का उत्पादन जावा की मैसूर स्थित फैक्ट्री में किया जाता था. इस मोटरसाइकिल में 250 सीसी का 2-स्ट्रोक इंजन लगाया गया था जो 16 बीएचपी पावर और 24 एनएम टॉर्क जनरेट करता है. अपने समय पर येज़्दी का प्रदर्शन बहुत बेहतर माना जाता था और इसकी हैडलिंग और परफॉर्मेंस के चलते इसे भारत में बेहतद लोकप्रिय हो गई.

yamaha rd350

यामाहा आरडी 350

यामाहा की ओर से आरडी 350 एक और काईकॉनिक मोटरसाइकिल है जो भारत में 80 के दशक में बिकना शुरू हुई थी. यकीन मानिए ये उस समय के शौकीनों की मोटरसाइकिल कही जाती थी, क्योंकि पहली बार भारतीय बाज़ार में 347 सीसी का पैरेलल-ट्विन इंजन दिया गया था जो 30.5 बीएचपी पावर और भारी मात्रा में टॉर्क पैदा करता था. हालांकि कंपनी ने बाद में इस इंजन को कुछ कम ताकत के साथ भारत में पेश किया, ये इंजन अब 27.5 बीएचपी पावर जनरेट करता था और इसकी टॉप स्पीड 140 किमी/घंटा थी.

cg550jnk

हीरो होंडा सीडी 100

भारत में लॉन्च की गई पहली फोर-स्ट्रोक बाइक हीरो होंडा सीडी 100 थी जिसे हीरो और होंडा की साझेदारी के ठीक बाद में पेश किया गया था जो 1983 में हुआ था. 1984 में लॉन्च की गई सीडी 100 को 80 और 90 के दशक में भारतीय बाज़ार में खूब पसंद किया गया. ये कंपनी की तरफ से किफायती दमदार और बेहद जीवट किस्म की बाइक थी जिसे किसी भी तरह की सड़क पर चलाया जा सकता था. साधारण और साफ डिज़ाइन वाली ये बाइक बिल्कुल कम मेंटेनेंस वाली भी थी.

valhqkuo

रॉयल एनफील्ड बुलेट

1947 के बाद भारत में सबसे पहले बेची जाने वाली चंद मोटरसाइकिल में रॉयल एनफील्ड बुलेट भी शामिल है. सरहद की निगरानी के लिए इंडियन आर्मी की ये सबसे पसंदीदा मोटरसाइकिल बनी, क्योंकि कठिन रास्तों पर रेतीली जगहों पर चलाए जाने के हिसाब से ही इसे डिज़ाइन किया गया था. 1955 में कंपनी ने मद्रास में फैक्ट्री खोली और वहां बुलेट 350 की असेंबलिंग शुरू की गई जिसे इंगलैंड के रेडिच से मंगवाया जाता था. 1962 से इस मोटरसाइकिल की बिक्री ने ज़ोर पकड़ा और भारत में आज तक इस मोटरसाइकिल को बेहद पसंद किया जा रहा है.

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

- Advertisment -

Most Popular

वीकेंड से पहले ही शुक्रवार को दिनभर पर्यटकों ने नैनी झील में नौका विहार का लिया आनंद

नैनीताल नगर में वीकेंड से पहले ही पर्यटकों की शुक्रवार को दिनभर चहल-पहल रही। इसी तहर शनिवार को भी यहां पर्यटकों की चहल-पहल बरक़रार...

आज अष्टमी व नवमी के अवसर पर मंदिरों और घरों में किया जा रहा कन्या पूजन

शारदीय नवरात्र की अष्टमी व नवमी आज बड़े धूम धाम से मनाई जा रही है। इस दौरान सुबह से ही घरों और मंदिरों में...

दशहरा 2020 : इस बार देहरादून में सादगी से मनाया जाएगा दशहरा 10 फीट के रावण होगा दहन

देहरादून के परेड ग्राउंड में होने वाले ऐतिहासिक रावण दहन कार्यक्रम इस बार रेसकोर्स स्थित बन्नू स्कूल में होगा। इस बार बीच रावण की...

सतभयकोट-खुलाई के ग्रामीणों ने सिस्टम को दिखाया आइना, श्रमदान कर खुद बना डाली दो किमी सड़क, पढ़िए

सतभयकोट-खुलाई के ग्रामीणों ने बिना सरकारी मदद के अपने गांव को सड़क मार्ग से जोड़ने के लिए दो किलोमीटर सड़क खोद डाली। चमोली जिले...

Recent Comments