34.3 C
Dehradun
Tuesday, May 18, 2021
Homeउत्तराखंडकोरोना संक्रमण से 1 करोड़ लोगों को मिली मुक्ति : दुनिया...

कोरोना संक्रमण से 1 करोड़ लोगों को मिली मुक्ति : दुनिया भर में संक्रमित मरीजाें के ठीक हाेने की दर 61.1% हैं जबकि मृत्यु दर 4% है, भारत में रिकवरी रेट 63.5% और मृत्यु दर 2.3% हैं

- Advertisement -
- Advertisement -

दुनियाभर में अब हर दिन कोरोना से करीब दाे लाख मरीज ठीक हाे रहे हैं, मरीजों के ठीक होने की दर, संक्रमण बढ़ने और मौतों की दर से ज्यादा पाए जा रहे।
काेराेनावायरस का संक्रमण दुनियाभर में तेजी से फैल रहा वही दूसरी तरफ इस वायरस को मात देने वाले मरीजों की संख्या भी कम नहीं है। यही वजह है कि रविवार को दुनिया में कोरोना को हराने वाले मरीजों की संख्या 1 करोड़ के आंकड़े को पार कर गई। इस मुश्किल दौर में यह खबर हर एक व्यक्ति को हौसला दे रहा ।अब हर दिन कोरोना से करीब दाे लाख मरीज ठीक हाे रहे हैं। मरीजों के ठीक होने की दर, संक्रमण बढ़ने और मौतों की दर से ज्यादा है। यह सभी के लिए राहत की बात है।जहा संक्रमण 10.5% की दर से बढ़ रहा है तो मौतों का आंकड़ा बढ़ने की दर 5.6% है। लेकिन ठीक होकर घर पहुंचने वाले मरीजों की संख्या 13% की दर से बढ़ रही है।8 महीने में काेराेनावायरस से दुनिया भर में 1.62 कराेड़ लाेग संक्रमित हो चुके हैं। जबकि 6 लाख 49 हजार 884 लोगो की मौत हो चुकी हैं, लेकिन अभी एक्टिव मरीजों की संख्या सिर्फ 62 लाख है।भारत में रिकवरी रेट और मृत्यु दर दुनिया के औसत से बेहतर देखी जा रही।
दुनिया में काेराेना से मरीजाें के ठीक हाेने की दर 61.1% है, जबकि मृत्यु दर 4% है। भारत में रिकवरी रेट 63.5% है। यहां कुल 13.82 लाख मरीजाें में से 8.81 लाख ठीक हाे चुके हैं। भारत की मृत्यु दर दुनिया के मुकाबले काफी कम 2.3% ही है।
दुनिया में संक्रमण 10.5% और माैतें 5.6% की दर से बढ़ रहीं, लेकिन मरीज ठीक हाेने की रफ्तार 13% है।
20 दिन से रोज 1 लाख से ज्यादा मरीज ठीक हो रहे; भारत में रिकवरी 30 हजार से ऊपर।भारत में सबसे अच्छा रिकवरी रेट दिल्ली में है। यहां 86.4% मरीज ठीक हो चुके हैं।
बेहतर रिकवरी वाले देश – कतर में सबसे ज्यादा 97% और तुर्की में 92% मरीज ठीक हुए ।
रिकवरी दर सबसे कम – अमेरिका में सबसे कम 47.7% मरीज ही ठीक हो पाए।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

- Advertisment -

Most Popular

Recent Comments